Wednesday, 18 March 2015

Kabhi ruthna na mujhse tu shyam saanwre - awesome bhajan - must listen


Must Listen bhajan



कभी रूठना ना मुझसे तू श्याम सांवरे,
मेरी ज़िन्दगी है अब तेरे नाम सांवरे,

मेरे सांवरे सवेरा तेरे नाम से ,
तेरे नाम से ही ज़िन्दगी की शाम सांवरे।

1.
चिंतन हो सदा इस मन में तेरा,
चरणो में तेरे, मेरा ध्यान रहे,
चाहे दुःख में रहूँ, चाहे सुख में रहूँ,
होंठो पे सदा तेरा नाम रहे,
तेरे नाम से ही मेरी पहचान है,
तेरी सेवा में ही मेरा कल्याण है,

मेरा रोम-रोम तेरा करज़ाई है,
तेरे कितने गिनाउ अहसान सांवरे।

2.
दिल तुमसे लगाना सीखा है,
तुमसे ही सीखा याराना,
जीवन को संवारा है तुमने,
बदले में दू क्या नज़राना,
मैंने दिल हार ये भी तेरी प्रीत है,
मेरी हार में भी श्याम मेरी जीत है,
बस दिल की यही है आरज़ू,
तुझे दिल का बना लू मेहमान सांवरे।

Video Link:

Tuesday, 3 March 2015

Shri Baanke Bihari ji se Vinay



विश्व भर के सच्चे उपासको के दिलो में श्री बिहारी जी महाराज के प्रति कितना प्रेम है, यह किसी से छिपा नहीं है। पूरब से भी, पश्चिम से भी, उत्तर से भी और दक्षिण से भी लाखो लाखो व्यक्ति यहाँ आते है और श्री बिहारी जी की बाँकी झांकी के दर्शन करके कृतार्थ हो जाते है। वे सब अलग-अलग मार्गो से आते हैं और पहुँचते है एक श्री बांके बिहारी जी के सामने।
रास्ते सबके जुदा-जुदा हैं, पर मंज़िल सबकी एक है।


जब व्यक्ति बांके बिहारी जी के मंदिर पहुँचता है, बहुत देर तक खड़ा खड़ा श्री बांके बिहारी की इस बाँकी छवि को निहारता है, इसे अपने ह्रदय पटल पर उतारने का प्रयास करता रहता है। यदि उतार पाता है तो सदा सदा के लिए इनका होकर रह जाता है, यदि नहीं , तो जिस रास्ते से आया है, उसके सामने वाले रास्ते से निकल जाता है, फिर वही चला जाता है, जहाँ से आया है।
फिर वही भोगवाद , वही दौड़ धुप , वही भटकन, वही लम्बा रास्ता , वही थकान भरा सफर।


फिर कभी मौका लगता है तो वह दोबारा भी जाने की कोशिश करता है। इस बार फिर वे ही रास्ते , वे ही दुकाने , वे ही लम्बी- संकरी गलिया, वे ही जन-प्रवाह, वे ही बांके बिहारी , वे ही बांके दर्शन। बांके को अपना बना लेने का फिर एक बांका क्षण। इस बार फिर चूक गए तो फिर वही आना जाना।

रास्ते बहुत है बिहारी जी तक पहुँचने के। सारे रास्ते सही है, अंतर है तो केवल कुछ रास्ते लम्बे है, कुछ छोटे है, कुछ सीधे है, कुछ घूम फिर कर मंज़िल तक जाते है। किन्तु ध्यान रखना होगा कोई भी रास्ता मंज़िल नहीं। मंज़िल तक वही पहुँच सकता है , जो रास्ते को छोड़ सके। जो रास्ते पर ही रीझा है, रास्ते पर ही आसक्त है, वह कभी मंज़िल तक नहीं पहुँच सकता।


जब तक साधक के मन में कामनाओ का जमघट है , तब तक वह राह को छोड़ कर मंज़िल को नहीं पकड़ सकता।
आईये हम भी युगल सरकार से विनय करें, की वो अपनी कृपा दृष्टि हम पर बरसायें:


श्री राधे अब तो दया करो,
हे किशोरी अब तो दया करो,
मेरी शयामा अब तो दया करो।


1. अब तो बन गयी विषयन दासी ,
अपनों कर शीश करो।


2. वृन्दावन रस बरसत नाही ,
(क्यों रस नहीं बरस रहा, क्यूंकि )
मन छल दंभ भरो।


Radhe - Radhe

Monday, 5 January 2015

Chahat mein humne shyam ki khud ko mita diya Lyrics - sadhvi purnima ji


Bhajan by Sadhvi Purnima ji -


Main theme of this bhajan is that we have totally devoted us to you, Krishna.
Krishna, you do not remember us but we have given our everything to you.


1. May be I am not worth it, but I still aspire to see you, find you.
I am living only on this hope that one day I will be able to see you.
I am only living to see you, and you are going away from me,
I have bowed down my head in front of you.

2. Now in your love, I am in such a condition that tears roll down from my eyes continuously,
I keep on looking for you.
They had habit of smiling, and I thought they are smiling for me,
They progressed by this habit of laughing, and I kept on going downwards.


Chahat mein humne shyam ki khud ko mita diya Lyrics - 


चाहत में हमने श्याम की खुद को मिटा दिया। 
चाहत में हमने आप की खुद को मिटा दिया। 

वो याद ना करते हैं हमको,

जिन्हे अपना बना लिया। 

१ क़ाबिल तो नहीं पर शौक तो है,

दीदार तेरे का मनमोहन,
इसी आस पर मैं जीवन की बाज़ी लगायी बैठी हूँ,

हम जिसे देखने को जिए जा रहे हैं,

वो पर्दा पे पर्दा किये जा रहे हैं,

मेरा शीशा दिल हिफाज़त से रखना,

अपना समझ कर जीए जा रहे हैं,

तुम देखो न देखो प्यारे,

ये है तुम्हारी मर्ज़ी,
मैंने तो तेरे दर पे सर को झुका दिया है। 

वो याद ना करते हैं हमको,

जिन्हे अपना बना लिया। 

२. उनकी चाहत में है अब ये हालत हमारी,

के आँखों से आंसू बहे जा रहे हैं,

आस पे तकते हैं राहें हम उनकी,

वो अब चल चुके हैं, वो अब आ रहे हैं,
हंसना तो उना दी आदत सी,
असी गलत अंदाजा ला बैठे,

तुसी हंसदे हंसदे वसदे रहे,

असी अपना आप गँवा बैठे,

तेरा दर्द दिल में रखना,

तुझे याद करके रोना ,

जीवन का अपने मैंने मकसद बना लिया है। 


वो याद ना करते हैं हमको,

जिन्हे अपना बना लिया। 


३. कहते हो तुम रो ना  -रो ना 

पर अपने को तो रोना है,

तेरे चरण कमल पर रगड़ रगड़

कब अपने मन को धोना है,

नैनो की गंगा यमुना से,

तेरे चरण कमल को धोना है,

तुम बनो ना बनो, हमारे पिया,

हमको तो तुम्हारा होना है,

मुश्किल है याद तेरी इक पल भी भूल पाएं,

पगली को याद रखना, तुम्हे अपना बना लिया है।  

वो याद ना करते हैं हमको,

जिन्हे अपना बना लिया। 




Official Video link -



Monday, 4 August 2014

Bhajan - Rahul Choudhary- ye zindagi hai aapki, o saanwre piya

Bhajan - Rahul Choudhary- ye zindagi hai aapki, o saanwre piya
lagta nahin hai aap bin, jag mein mera jeeya

This bhajan is sung in taunt sort of mood to Thakur g.
Devotee explains his plight to thakur g.
How devotee doesn't find any joy in worldly belongings.

How devotee is crying without You,
You should have given instead given poison,
what was my fault in this.


ये ज़िन्दगी है आपकी, ओ सांवरे पिया,
लगता नहीं है आप बिन, जग में मेरा जीया।।

इच्छा तुम्हारे अंक में बैठी रहू सदा,
तू बेवफाई कर भला, हो ना बेवफा,
रुस्वाई करने का सबब क्यूँ तुमने चुन लिया,

लगता नहीं है आप बिन, जग में मेरा जीया।।

रोते हुए यूँ छोड़ना, जाना ना था भला,
हाथो से विष पिला कर , जाता तू फिर चला,
अवगुण है क्या जो आपने अपना नहीं किया,

लगता नहीं है आप बिन, जग में मेरा जीया।।

दिल चैन जागने में ना, सोने में ना मिले,
प्रतिष्ठा, मान, वैभव से दिल नहीं खिले,
तन-मन तेरे वगैर ये दाग-दार कर लिया,

लगता नहीं है आप बिन, जग में मेरा जीया।।

हमें यूं भटकता छोड़ना, अच्छा नहीं करम,
मर्ज़ी तुम्हारी है मेरे हो सांवरे साजन,
बेबस को आंसुओ का भी अधिकार ना दिया,

लगता नहीं है आप बिन, जग में मेरा जीया।।

Here is link to listen:



Bhajan - Rahul Choudhary - Meri Vinay maan lije

Bhajan by Rahul Choudhary g:

Meri Vinay maan lije,
Shri Radhe meri vinay maan lije,
Kishori meri vinay maan lije.

This bhajan is request to radha rani:

मैं अति दीन हीन श्री राधे,
दीनन की सुध लीजो राधे,
मोहे शरण में रख लीजे,

मेरी विनय मान लीजे।।
श्री राधे मेरी विनय मान लीजे।।

श्री राधा, मैं कर्म हीन कछु आवत नाही,
इत जाऊ, कोई मेरो नाही,
मोहे अपनों कर लीजे,

मेरी विनय मान लीजे।।
श्री राधे मेरी विनय मान लीजे।।

डूब रही मझदार में नैया,
तुम बिन कोई नहीं खवैया,
मेरी बांह पकड़ लीजे,

मेरी विनय मान लीजे।।
श्री राधे मेरी विनय मान लीजे।।

हे राधे, मैं अति दुखियारी,
कहाँ जाऊ किस्मत की मारी,
मोहे अब तो कृपा कीजे,

मेरी विनय मान लीजे।।


You can listen from here:



Bhajan - Hum gareebo ki sun lo kahani, radha rani humari maharani

Hum gareebo ki sun lo kahani, radha rani humari maharani

हम गरीबो की सुन लो कहानी, राधा रानी  हमारी महारानी।  


हम गरीबो की सुन लो कहानी, राधा रानी  हमारी महारानी।

चैन चित में दरस बिन ना आये,
तुमको पाने को ज़ी अकुलाये,
सारे ब्रिज की हो तुम ठकुरानी,
राधा रानी  हमारी महारानी।।


दर्द मेरा नहीं कोई जाने,
मेरे अपने हुए हैं बेगाने,
टुकड़ो से भरी ज़िंदगानी,
राधा रानी  हमारी महारानी।।

सबसे बड़ी चीज़ जो ज़िन्दगी में मांगनी है राधा रानी से , वो है:

मेरे जीवन की अंतिम घडी हो,
श्री राधा मेरे संग खड़ी हो,
तब सफल हो मेरी ज़िंदगानी ,

राधा रानी  हमारी महारानी।।

(mere jeevan ki antim ghadi ho,
shri radha mere sang khadi ho,
ta safal ho meri zindagani)


What a beautiful bhajan.
It's treat to listen.
Do listen it.

Thursday, 19 June 2014

Mere saahiba main teri ho chukiya - bhajan by Sadhvi Purnima ji

Bhajan by Purnima Ji


This bhajan is treat to listen.
Please listen it.

Mere sahiba, main teri ho chukiya
Mere mohana, main teri ho chukiya.


मेरे साहिबा, मैं तेरी हो चुकियां
मेरे मोहना, मैं तेरी हो चुकियां
(My Majesty, I am yours now,
My Mohan, I am yours now)

अवगुण हारी, कोई गुण नाहीं,
बक्श करे ते मैं झुकियां ।
(I have no good quality,
 forgive me, I bow to you)

जे तू नज़र मेहर दी पावे,
चढ़ चौबारे मैं सुतियाँ ।
(If you give your grace to me,
then all my worries are gone),


मैनु ना विसारी, मैनु मेरे सोनया,
हर गल्लो मैं झुकियां ।
(Never leave me alone, My love
I have submitted myself to you in every talk)

ज्यो भावे त्यों राख प्यारेया,
दाम तेरे मैं लुटियां ।
(you can keep me in this world as you want me,
For you, I am robbed)

कहे हुसैन, फ़क़ीर साईं दा,
इक तेरी बन मुकियां ।

Video link-

About Me

My photo


I am B.Tech from NIT Kurukshetra and currently software engineer in NCR
My posts will tell you better about me.